6 Ways to be in Competition at Workplace

LATEST BLOG

Latest Blogs By Mental Health Professionals.

6 Ways to be in Competition at Workplace

जब चीज़े पर्तिस्पर्धात्मक होती है, तो लोग अक्सर उन गतिविधियों का सहारा लेते हैं जिन्हें उन्हें नहीं करना चाहिए | ऑफिस में जहाँ हम टीम के लक्ष्य और व्यक्तिगत लक्ष्यों को हासिल करने के लिए काम करते हैं, वहां दूसरों से आगे निकलने की होड़ में कुछ भी कर गुजरने को तैयार हों, उससे पहले हमें कुछ चीजों का ध्यान रखना चाहिए जैसे:

1. एक टीम एक इकाई है, यदि बाएं हाथ दाहिने हाथ को मरना शुरू हो जाता है, तो कुशलता से काम करना कैसे सक्षम होगा? इसी प्रकार, अपे गंतव्य तक पहुंचने के लिए दोनों पैरों को एक दिशा में आगे बढ़ाना चाहिए ताकि दोनों ही अपने गंतव्य तक पहुँच सकें|

2. दोषारोपण और गलती निकालना तब शुरू होता है, जब लोग एक दुसरे के साथ अच्छी तरह से संवाद नहीं करते हैं| पता करें कि इस व्यवहार के कारण क्या हुआ और पारस्परिक समस्याएं हल करें| एक बार हल हो जाने पर, घर्षण कम होगा और कुशल कार्य वातावरण के लिए मार्ग प्रशस्त करेगा|

3. हम हर समय लोगों पर नाराज़ होते हैं| लेकिन क्या हमें इसे हर समय साझा करने की आवश्यकता हैं? एक व्यक्ति जो अपनी झुंझलाहट या चिडचिडाहट को साझा करता है और अपने गुस्से को नियंत्रित करने में सक्षम नहीं हैं, तो वह ऑफिस में बहुत कम पसंद किया जाता है| अपनी भावनायोँ पर नियंत्रण रखना बहुत ही जरुरी होता है, क्योंकि बार-बार एच.आर. से मिलने जाना या शिकायत करना किसी भी कर्मी के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं|

4. ऐसे कर्मचारी हैं जो बॉस की नज़रों में आने के लिए कुछ भी करेगें, उनको सहकर्मियों के खिलाफ बात करने से बचना चाहिए| बॉस को खुश करना अच्छी बात है, लेकिन दूसरों को नीचा दिखाने से बात नहीं बनेगी| यह प्रवृति उल्टे आप के लिए घातक हो सकती हैं, इसके बजाय, यह जानने कोशिश करें कि  आपके बॉस की क्या जरूरत है या क्या चाहते हैं, उसे देने का प्रयास करें और आप बॉस पर अपनी सकारात्मक छाप छोड़ सकते हैं| एक बार जब यह निरंतर रूप से घटित होगा तो आपको किसी नकारात्मक हथकंडे को अपनाने की जरूरत नहीं पड़ेगी|

5. अपने सहकर्मियों से की हुई हर छोटी बात बॉस से साझा करना अच्छी बात नहीं होगी, क्योंकि यह आपको अपनी टीम में विमुख कर देगा और अपने सहयोगियों में अविश्वास की भावना को पैदा करेगा| ऐसा करने से छोटे समय के लिए आप फायदा उठा सकते हैं पर लम्बे समय के लिए ये हानिकारक साबित होगा|

6. यदि आप एक ईर्ष्यापूर्ण व्यक्ति हैं, तो आप कॉपोरेट जगत में बहुत दूर नहीं जाएंगे| ऑफिसों में एक सुरक्षित कर्मचारी की मांग की जाती है, क्योंकि वह दुसरे लोगों में सबसे अच्छा काम करता और करवाता है| ईर्ष्या केवल रिश्तों को बर्बाद कर सकती है| किसी भी ऑफिस में नकारात्मकता की कोई आवश्यकता नहीं है, क्योंकि यह कार्य संस्कृति से समझौता करता है और पूरे विकास प्रक्रिया को तोड़ देता है|

यह समझना महत्वपूर्ण है कि कोई भी दो लोग समान नहीं है, हर किसी का अपना व्यक्तित्व है लेकिन हम सभी अच्छे इंसान बनने का प्रयास कर सकते हैं| समस्कारा विकसित करें और पाए कि सुखी बनने के लिए कोई प्रयास करने की आवश्यकता नहीं है| याद रखें अच्छा बनाने का ढोंग नहीं करना है, बल्कि नेक नियति की भावना को अपने अंदर जागृत करना होगा| जब बदलाव अंदर से ऊपरी तौर पर दिखेगा तभी इसका प्रभाव आपके और आपके आस पास वालों पे पड़ेगा|

अगर आपको किसी भी प्रकार की कोई सहायता की आवश्यकता महसूस हो तो बेझिझक हमारे काउंसलर से ऑनलाइन बात करे या अपॉइंटमेंट www.myfitbrain.in पर बुक करे|     


Share:

Meet Our Therapists

Dr Neha Mehta

Dr Neha Mehta

Consultant Psychologist, Menta

Available For
Consultation (Clinic)Voice CallVideo (Skype) CallChat

Counseling Starts From
1000 / 30 Minutes

Dr Abhishek Chugh

Dr Abhishek Chugh

Psychiatrist, Neuro Psychiatri

Available For
Voice CallVideo (Skype) Call

Counseling Starts From
1200 / 30 Minutes

Pooja Agarwal

Pooja Agarwal

Relationship Counselor, Work S

Available For
Voice CallVideo (Skype) Call

Counseling Starts From
700 / 30 Minutes

Anita Eliza

Anita Eliza

Relationship Counselor

Available For
Voice CallVideo (Skype) Call

Counseling Starts From
700 / 30 Minutes

Talk to Experts

Choose your Expert & Book a Session

Online Therapists →